कांग्रेस के झूठे वायदों पर जनता को भरोसा नहीं : नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री ने लालपुर में विशाल आमसभा को किया संबोधित प्रत्येक मतदाता से मतदान करने की जा रही अपील जीका बुखार से बचाव के लिए सावधानी बरतें चिल्ड्रन होम में गार्ड द्वारा बच्चों नशीली दवा देने के मामले में हाईकोर्ट ने शासन से मांगा जवाब पीएम मोदी का खुला चैलेंज पहले 4 पीढ़ियों का हिसाब दो, मैं तो 4 साल का हिसाब दे रहा हूं इमली के बीज में छिपा है चिकनगुनिया का इलाज: आईआईटी वैज्ञानिक गेहूं की बुआई के लिए खेतों में पानी ना होने से संकट में 3 हजार किसान bhopal क्राईम ब्रांच कार्यालय के सामने से कार चोरी तेज रफ्तार कार ने बाईक को मारी टक्कर, एक की मौत दुसरा घायल सिग्नेचर ब्रिज पर निर्वस्त्र होने का वीडियो वायरल
Home / अन्य ख़बरें / जम्मू-कश्मीर के तंगधार सेक्टर में 5 घुसपैठियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर
Baramulla : Armed force personnel in action during encounter with terrorists at 46 Rashtriya Rifles camp in Baramulla, Kashmir on Oct. 3, 2016. (Photo: IANS)

जम्मू-कश्मीर के तंगधार सेक्टर में 5 घुसपैठियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के तंगधार सेक्टर में मुठभेड़ में भारतीय सेना को बड़ी कामयाबी मिली है। सोमवार को सेना ने कुपवाड़ा के तंगधार सेक्टर में तीन आतंकियों को मार गिराया है। यानी अबतक इस ऑपरेशन में कुल 5 आतंकियों को मौत के घाट उतारा जा चुका है। बता दें कि तंगधार सेक्टर लॉइन ऑफ कंट्रोल के पास है। ऑपरेशन में एक जवान शहीद भी हुआ है, अभी भी ऑपरेशन जारी है। बता दें कि करनाह स्थित ईगल पोस्ट के पास से घुसपैठ की कोशिश के बाद सेना के 20 जाट यूनिट के जवानों और आतंकियों के मुठभेड़ शुरू हुई थी। इसके पहले इस इलाके में सीजफायर उल्लंघन भी हो चुका है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों में पाकिस्तान की ओर से इस इलाके में गोलीबारी की जा रही है। पाकिस्तान में नई-नई सरकार बनी है, लेकिन अभी भी पाकिस्तान के रंग पुराने ही हैं। पाकिस्तान की ओर से लगातार घुसपैठ की कोशिशें की जा रही हैं। बता दें कि हाल ही में सेना प्रमुख बिपिन रावत ने भी बयान दिया है कि पाकिस्तान के आतंकियों का खात्मा करने के लिए एक और सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत है।

Check Also

संयुक्त राष्ट्र में भारत ने सजा-ए-मौत पर रोक के खिलाफ किया वोट

जिनेवा (ईएमएस)। भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में मौत की सजा पर रोक लगाने को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *