20 सेकंड गले मिलने से दूर होता है तनाव -शरीर में भी फील-गुड फैक्टर का पड़ता है प्रभाव

0
434

नई दिल्ली (ईएमएस)। विभिन्न रिपोर्टों के अनुसार, 20 सेकंड से अधिक समय तक किसी को गले लगाने से दिमाग के साथ-साथ शरीर में भी फील-गुड फैक्टर का प्रभाव पड़ता है और हम खुशी के साथ-साथ स्वस्थ भी महसूस करते हैं। यह सुनने में भले ही चौंकाने वाला तथ्य लगे लेकिन यह साबित हुआ है कि अपने किसी करीबी को गले लगाने से आपका दर्द काफी हद तक कम हो जाता है। इजरायल के हाइफा विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक शोध के अनुसार, गले लगना प्राकृतिक दर्द निवारक के समान कार्य करता है। किसी को गले लगाना यह कहता है कि आप बिना एक शब्द भी बोले उनकी परवाह करते हैं। यह वास्तव में आपको सहानुभूति, प्यार और चिंता जैसी भावनाओं को व्यक्त करने में मदद करता है। यह संचार का एक गैर-मौखिक रूप है जो बहुत ही आरामदायक है। जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, किसी को गले लगाने से ऑक्सिटोसिन हॉर्मोन रिलीज होता है। यह आगे आपको खुश रहने में मदद करता है और तनाव-अवसाद जैसी चीजों के स्तर को कम करता है। जब आप किसी प्रियजन को एक कठिन दौर से गुजरते हुए देखते हैं, तो आप उन्हें गर्मजोशी से गले लगाते हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, कोर्टिसोल नामक यह प्रक्रिया तनाव हॉर्मोन के उत्पादन को कम करती है। तनाव हॉर्मोन, कोर्टिसोल को रक्तचाप बढ़ाने के लिए भी जाना जाता है और बदले में, हृदय रोगों का खतरा बढ़ता है। कई रिपोर्टों और अध्ययनों ने इस तथ्य की ओर संकेत किया है कि नियमित रूप से गले लगाने से कोर्टिसोल के स्तर में काफी गिरावट आ सकती है और परिणामस्वरूप आपके दिल की बीमारियों से रक्षा हो सकती है। कहते हैं अगर किसी से आपको कोई मनमुटाव हो जाए, किसी बात को लेकर रिश्तों में दूरियां आ जाएं तो गले मिलकर सारे गिले-शिकवे दूर कर लेने चाहिए। इतना ही नहीं जब भी हम किसी यार-दोस्त से लंबे समय बाद मिलते हैं तब भी हम सामने वाले को गले लगा लेते हैं लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि गले मिलने से आश्चर्यजनक रूप से स्वास्थ्य लाभ भी हो सकता है। किसी को गले लगाने से ज्यादा सुखदायक और संतोषजनक कुछ भी नहीं होता।