Current Crime
ग़ाजियाबाद

17 दिन कड़ी सुरक्षा में रहेगी मतपेटिया पीएसी के जवान हुए तैनात, तीसरी आंख की रहेगी निगरानी

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। जिला पंचायत चुनाव संपन्न होने के बाद 17 दिनों के लिए मतपेटियों को कड़ी सुरक्षा के बीच स्ट्रांग रूम में रख दिया गया है। मतपेटियों की सुरक्षा के लिए एक सेक्शन पीएसी और होमगार्ड के जवानों की तैनाती की गई है। सुरक्षा के लिहाज से यहां पर सीसीटीवी की भी नजर रहेगी। साथ ही सुरक्षाकर्मियों की राउंड द क्लॉक ड्यूटी रहेगी। इस दौरान अलग-अलग दिन प्रशासनिक अधिकारी और चुनाव अधिकारी यहां का निरीक्षण करेंगे। सीसीटीवी के तार और बिजली व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए भी अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। एसडीएम सदर ने बताया है कि चार ब्लॉकों में रूट्रांग रुम बनाए गए हैं । चारों ब्लॉकों में स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। भोजपुर की मतपेटियों के लिए महर्षि दयानंद कॉलेज में, मुरादनगर का स्ट्रांग रूम श्रीहंस इंटर कॉलेज, लोनी का होली चाइल्ड अकादमी और रजापुर ब्लॉक की मतपेटियों के लिए गोविदपुरम अनाज मंडी में स्ट्रांग रूम बनाया गया है। मतदान समाप्त होने के बाद पोलिग पार्टियां देर रात तक कड़ी सुरक्षा के बीच स्ट्रांग रूम में मतपेटियां जमा करा रही थीं। देर रात तक पोलिग कर्मियों की मतपेटी जमा कराने की कतार लगी हुई थी। एसपी देहात डॉ. इरज राजा ने बताया कि स्ट्रांग रूम की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की गई है। इसके लिए प्रत्येक स्ट्रांग रूम के बाहर पुलिस की एक गारद यानि एक उपनिरीक्षक के साथ पांच सिपाही, एक सेक्शन पीएसी यानि नौ पीएसी के जवान और होमगार्डों की तैनाती की गई है। मतगणना पूरी होने तक यह फोर्स स्ट्रांग रूम के बाहर ही डेरा डालेगी।

पोलिंग बूथ के आसपास की दुकानें रही बंद

पुलिस प्रशासन द्वारा चुनाव को इस प्रकार से कराया गया कि आमजन को परेशानी भी ना हो और चुनाव भी ठीक प्रकार से हो सके। इस दौरान पोलिंग बूथ के 200 मीटर के दायरे में दुकानों और बाजारों को बंद रखा गया। साथ ही यहां पर मतदान के बाद लोगों को रोकने की अनुमति नहीं दी गई। वहीं प्रत्याशियों के बूथों को भी दूर ही लगाया गया था। सुरक्षा के लिहाज से अधिकारियों का समय समय पर दौरा होता रहा और हर बूथ के बाहर पुलिस की भी सुबह से लेकर शाम तक तैनाती रही।

कुशलिया में नई दुल्हन ने डाला वोट

कुशलिया के प्राथमिक विद्यालय में मतदान के दौरान एक नवदंपत्ति ने भी यहां अपने वोट का इस्तेमाल किया। गांव के रहने वाले बंटी की पत्नी वोट डालने घुंघट के साथ नई चमकती हुई साड़ी में पहुंची और उन्होंने वोट डालने के बाद अपनी स्याही का निशान भी दिखाया और अन्य लोगों से भी अपील की कि वह भी वोट अवश्य करें। इस दौरान नई दुल्हन को लेकर चर्चा होती रही।
पहली बार डाला वोट :

मैंने पहली बार मतदान किया है। मैंने एक शिक्षित और ऐसे प्रत्याशी को चुनने का प्रयास किया है जो हमारे गांव और क्षेत्र की व्यवस्था को सुधार सके।
-: अनीता

मैंने पहली बार वोट किया है। मेरा मकसद यह है कि नेता और उनकी सोच बदलो और अच्छे लोग राजनीति में चुनकर आएं। जिससे देश और समाज का भला हो सके।
-: राधिका
जब घनश्याम बन गया श्रवण कुमार

पंचायत चुनाव के लिए मतदान करने को लेकर हर उम्र के लोगों में गजब का जोश दिखाई दिया। इस दौरान इंद्रगढ़ी स्थित प्राथमिक विद्यालय में पहुंचे घनश्याम को लोग दूर से ही देखने लगे। उन्होंने अपनी 80 वर्षीय मां भंवर कली को कंधे पर उठा रखा था और वह मतदान कराने के लिए पहुंचे थे। भंवर कली को देखकर एडीएम सदर डीपी सिंह ने कहा कि हर नागरिक का संविधान व उसकी व्यवस्था के प्रति सम्मान ही तो है। उधर भंवर कली ने कहा कि भले उनको अब कम दिखाई देता हो लेकिन लोकतंत्र में उनकी आस्था और विश्वास अब भी पहले की तरह कायम है। उन्होंने अपना मताधिकार करने के बाद हाथ पर स्याही का निशान भी दिखाया। घनश्याम और भंवर कली को जिसने भी देखा वह उनका मुरीद हो गया और उनको दिल से सलाम किया।

जनपद में ये है त्रिस्तरीय चुनाव की स्थिति

जिला पंचायत सदस्यों की संख्या- 14
प्रधान पद के उम्मीदवारों की कुल संख्या- 161
क्षेत्र पंचायत सदस्यों की कुल संख्या- 323
ग्राम पंचायत सदस्यों की कुल संख्या- 2141

ये है ब्लॉक वार पदों की स्थिति

भोजपुर विकास खंड कुल पद
प्रधान 47
क्षेत्र पंचायत 102
ग्राम पंचायत 633
योग 782

मुरादनगर विकास खंड कुल पद प्रधान 48
क्षेत्र पंचायत 71
ग्राम पंचायत 622
योग 741

रजापुर विकास खंड कुल पद
प्रधान 34
क्षेत्र पंचायत 76
ग्राम पंचायत 448
योग 558

लोनी विकास खंड कुल पद
प्रधान 32
क्षेत्र पंचायत 74
ग्राम पंचायत 438
योग 544

 

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: