Current Crime
देश महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में सरकारी अस्पताल में 10 शिशुओं की मौत

भंडारा (महाराष्ट्र) | महाराष्ट्र के भंडारा जिले के एक सरकारी अस्पताल में शनिवार तड़के बच्चों के वार्ड में आग लगने से करीब 10 नवजात शिशुओं की दम घुटने से मौत हो गई। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। यह आग संदिग्ध तौर पर बिजली के शॉर्ट-सर्किट के कारण तड़के करीब 1.45 बजे लगी। आग काफी तेजी से फैली। उस समय वार्ड से गुजरने वाली ड्यूटी पर मौजूद एक नर्स ने अंदर से धुआं उठता देख आग लगने के बारे में जानकारी दी, जिसके बाद अस्पताल के अन्य कर्मचारी घटनास्थल पर आए।
करीब 10 शिशुओं, जिनमें से अधिकांश 3 महीने से कम उम्र के थे, उनकी घुटन के कारण मौत हो गई, जबकि 7 अन्य को बचा लिया गया। हालांकि पुलिस ने आग लगने के कारण की घोषणा नहीं की है, लेकिन संदेह है कि बिजली के शॉर्ट-सर्किट के कारण एयर-कंडीशनर में विस्फोट हुआ, जिसके बाद वार्ड में धुआं उठने के साथ आग लग गई और दम घुटने से मौतें हुईं।
घटना पर कड़ा संज्ञान लेते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई से करीब 900 किलोमीटर दूर जिले में आग लगने की इस घटना के जांच के आदेश दिए। घटना पर नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे और जिले के अधिकारियों से भी इस मामले पर चर्चा की और कहा कि जो भी दोषी पाए जाते हैं उन्हें कड़ी सजा दी जानी चाहिए।
ठाकरे और टोपे ने भंडारा के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से भी बात की है और उन्हें तत्काल राहत उपाय करने के निर्देश दिए हैं।
जिला सर्जन डॉ. प्रमोद खांडते ने मीडियाकर्मियों से कहा कि अस्पताल के कर्मचारियों और दमकलकर्मियों ने आग लगने के बाद ‘इनबाउंड वार्ड’ से 7 शिशुओं को बचाया।
वहीं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, जिला संरक्षक मंत्री विश्वजीत कदम, महाराष्ट्र के नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस और प्रवीण दिवाकर, अन्य वरिष्ठ नेताओं ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है।
कोविंद ने कहा, “भंडारा में आग लगने की घटना से मुझे गहरा धक्का लगा है। अपने शिशुओं को खोने वाले लोगों के परिवारों के साथ मेरी सहानुभूति है।”
वहीं मोदी ने अपने संदेश में कहा, “दिल तोड़ने वाली त्रासदी, जहां हमने बहुमूल्य बच्चों के जीवन को खो दिया। मेरे विचार सभी शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मुझे उम्मीद है कि घायल जल्द से जल्द ठीक हो जाएंगे।”
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बच्चों की मौत पर शोक व्यक्त किया और कहा, “महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में आग का हादसा बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। पीड़ा को बयां करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। मेरे विचार और संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं ..।”
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा, “महाराष्ट्र के भंडारा जिला सामान्य अस्पताल में आग लगने की दुर्भाग्यपूर्ण घटना अत्यंत दुखद है। जिन बच्चों ने अपनी जान गंवाई, उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना है। मैं महाराष्ट्र सरकार से घायलों और मृतक के परिजनों को हर संभव सहायता प्रदान करने की अपील करता हूं।”
वहीं टोपे ने घोषणा की कि मृतक शिशुओं में से प्रत्येक के माता-पिता को 500,000 रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने जांच के आदेश भी दिए और दोषियों को कड़ी सजा देने की बात कही।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: