Current Crime
हेल्थ

राजधानी में डेढ़ लाख लोगों का दूसरे डोज का इंतजार

  • एक मोबाइल नंबर पर कई नाम दर्ज होने से हो रही परेशानी

भोपाल। राजधानी में डेढ़ लाख लोगों का कोराना वायरस वैक्सीन के दूसरे डोज का इंतजार है।एक मोबाइल नंबर पर कई नाम दर्ज होने से संबं‎‎धितों से संपर्क नहीं हो पा रहा है। वर्तमान में भोपाल में कोविशील्ड का पहला डोज लगवाने वालों में एक लाख 15 हजार का और कोवैक्सीन का पहला डोज लगाने वाले 34 हजार लोगों का दूसरा डोज लंबित हो गया है। इनमें कुछ तो ऐसे भी हैं, जिन्हें पहला डोज लगवाए हुए तीन से चार महीने हो चुके हैं। अब तीसरी लहर की आंशका के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग ने तय अवधि बीतने के बाद दूसरा डोज नहीं लगवाने वालों को खोजना शुरू कर दिया है। मालूम हो ‎कि कोरोना की तीसरी लहर की आहट हो रही है। प्रदेश के कुछ इलाकों में कोरोना केस फिर बढ़ने लगे हैं। इससे बचने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोरोना से बचाव के टीका का दूसरा डोज लग जाए। भोपाल में दोनों वैक्सीन के दूसरे डोज के लिए एक लाख 49 हजार लोगों का टीकाकरण लंबित हो गया है। उधर, राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. संतोष शुक्ला ने कहा कि प्रदेश में करीब 52 लाख लोगों का दूसरा डोज लंबित है। दूसरा डोज नहीं लगवाने वालों की सूची तैयार कर उन्हें फोन किया जा रहा है। साथ ही दिए गए नंबर पर एसएमएस भी किया रहा है, लेकिन दिक्कत यह आ रही है कि इनमें कई लोगों के फोन नंबर बंद मिल रहे हैं। एक ही मोबाइल नंबर से कई हितग्राहियों का पंजीयन हुआ है, इस कारण भी सभी से बात नहीं हो पा रही है। तीसरी दिक्कत यह है कि कोविन पोर्टल पर हितग्राहियों का पता दर्ज नहीं होता। ऐसे में उन्हें पते पर भी नहीं खोजा जा सकता। इसके अलावा उन लोगों को भी दूसरा डोज लगवाने में दिक्कत हो रही है, जिनका पंजीयन किसी और के मोबाइल नंबर से हुआ है। इनमें नगर निगम के सफाई कर्मचारी समेत ऐसे हितग्राही शामिल हैं, जिनके पास खुद का मोबाइल नहीं हैं। ये सर्टिफिकेट भी डाउनलोड नहीं कर पा रहे हैं। भोपाल में 18 साल से ऊपर के 19.50 लाख लोगों को अभी टीका लगना है। अब तक 15,77,237 पहला डोज लग चुका है । अब तक 4,21,996 लोगों को दूसरा डोज लगा है। दोनों डोज लगवाने वालों में पुरुष की संख्या 11,06,435 है। दोनों डोज लगवाने वालों में महिलाएं की संख्या 8,92,355 है।वहीं जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. उपेन्द्र दुबे का कहना है ‎कि जिले में करीब डेढ़ लाख लोगों का दूसरा डोज ड्यू (लंबित) हो गया है। इन्हें फोन कर टीका लगवाने के लिए बुला रहे हैं। स्मार्ट सिटी कंट्रोल रूम से सभी को फोन किया जा रहा है, लेकिन कई लोगों से बात नहीं हो पाती। इस बारे में एम्स भोपाल के निदेशक डॉ.सरमन सिंह दूसरा डोज लगवाना बहुत जरूरी है। पहला डोज लगवाने के बाद करीब 30 फीसद ही सुरक्षा मिल पाती है। दोनों वैक्सीन में दूसरा डोज लगवाने के लिए दी गई अवधि में टीका जरूर लगवाएं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: