वफादार नेता बेटी की शादी छोड़ पार्टी की मी‎‎टिंग में पहंचे

0
85

बैंगलोर (ईएमएस)। कर्नाटक में कांग्रेस के बागी नेताओं के कारण जहां सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं तो दूसरी ओर पार्टी में कुछ वफादार नेता ऐसे भी हैं जो ‎कि पार्टी की मी‎टिंग में ‎बेटी की शादी छोड़कर पहुंचे। हावेरी जिले में हीरेकेरूर से कांग्रेस विधायक बीसी पाटिल बेटी की शादी छोड़कर सीधा अपनी गाड़ी में कांग्रेस पार्टी की मीटिंग में शा‎मिल हुए। वहां पहुंच दस्तखत करने के बाद र वहां से ‎फिर वापस शादी में चले गए। बता दें कि कांग्रेस की इस अहम मीटिंग में पार्टी के 80 में से 76 विधायक मौजूद थे। इस मीटिंग के बाद सभी विधायकों को बेंगलुरू के बाहर ईगलटन रिसॉर्ट ले जाया गया। वहीं बैठक से बाहर निकले बीएस पाटिल ने मीडिया को बताया, बेटी की शादी होने के बावजूद मैं यहां आया हूं। शाम को रिसेप्शन है इसलिए वापस जा रहा हूं। भाजपा से किसी ने भी मुझसे संपर्क नहीं किया है। पाटिल की बेटी सृष्टि की शादी में बीएस येदियुरप्पा और एचडी देवगौड़ा भी मौजूद थे।
पाटिल कभी एक्टर और पुलिस वाले रह चुके हैं। इस बार वह मंत्री बनने की रेस में काफी आगे थे, लेकिन मंत्री न बनाए जाने पर उन्होंने सार्वजनिक रूप से नाराजगी जा‎हिर की थी। उनकी बेटी ने भी पार्टी के खिलाफ असंतोष ज़ाहिर किया था। हालांकि अपनी नाराजगी के बावजूद पाटिल कांग्रेस के वफादार माने जाते हैं। वहीं कांग्रेस की मीटिंग से गायब रहे विधायकों में रमेश जराकिहोली, उमेश जाधव, महेश कुमटल्ली और बी नगेंद्र शामिल थे। इनमें से उमेश जाधव और बी नगेंद्र ने उपस्थित न हो पाने का कारण कोर्ट की सुनवाई बताया, जबकि बाकी के दो विधायकों के मी‎टिंग न आने की वजह बीमारी बताई गई। जानकारी के अनुसार इन चारों को पार्टी की तरफ से नोटिस भेजा जाएगा।