राम मंदिर फैसले के बाद सुरेश राणा, संगीत सोम की सुरक्षा बढ़ाई गई

0
167

लखनऊ (ईएमएस)। उत्तरप्रदेश अयोध्या में राम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद प्रदेश सरकार ने मंगलवार को कई लोगों की सुरक्षा बढ़ाने की घोषणा की है। राज्य में जिन लोगों की सुरक्षा बढ़ाई गई उसमें योगी सरकार में मंत्री सुरेश राणा और भाजपा विधायक संगीम सोम का नाम भी शामिल है। जबकि अयोध्या मध्यस्थता कमेटी की सुरक्षा वापस ले ली गई है। पिछले दिनों राम मंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट की ओर से दिए गए फैसले के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने कई लोगों की सुरक्षा बढ़ा दी है। इसमें योगी सरकार में मंत्री सुरेश राणा और भाजपा विधायक संगीम सोम भी शामिल है। विधायक संगीम सोम की सुरक्षा वाई से बढ़ाकर जेड कर दी गई है।
दरअसल, यूपी सरकार की सिक्योरिटी रिव्यू कमेटी की बैठक हुई। इस बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर गृह सचिव की अगुवाई वाली कमेटी ने सुरक्षा में बदलाव करने का फैसला किया। सिक्योरिटी रिव्यू कमेटी ने अयोध्या मध्यस्थता कमेटी की सुरक्षा वापस लेने का फैसला लिया है। हालांकि राज्य की योगी सरकार ने मंत्री सुरेश राणा को जेड प्लस की सुरक्षा देने का फैसला लिया है। इसके अलावा राज्य मंत्री नंद गोपाल नंदी को जेड श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। राज्य सरकार ने जिन अन्य लोगों की सुरक्षा में इजाफा किया है। उसमें भाजपा विधायक संगीम सोम की सुरक्षा वाई से बढ़ाकर जेड कर दी गई है। सरकार ने शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी और सुन्नी वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष जुफर फारूकी की सुरक्षा बढ़ाकर वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा देने का फैसला किया है। इनके अलावा मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी और राम जन्मभूमि न्यास के महंत रामविलास वेदांती की सुरक्षा भी बरकरार रखने का फैसला किया गया है। इसके अलावा कोर्ट के आदेश पर 10 और लोगों की सुरक्षा बढ़ाई गई है।