अनुकंपा नियुक्ति कोई कानूनी अधिकार नहीं :- कैट

0
55

नई दिल्ली (ईएमएस)। सेंट्रल एडमिनिस्ट्रेटिव ट्रिब्यूनल कैट ने अपने आदेश में कहा है, कि अनुकंपा नियुक्ति को कानूनी अधिकार का दर्जा नहीं है। कोई भी व्यक्ति कानूनी अधिकार के तौर पर अनुकंपा नियुक्ति के लिए दावा नहीं कर सकता है। कैट ने अपने आदेश में कहा कि आवेदक के परिवार की स्थिति का मूल्यांकन नियोक्ता के विवेक पर आधारित है।
दिल्ली निवासी रोहित चौधरी की याचिका को खारिज कर दिया उल्लेखनीय है, कि अनुकंपा के आधार पर दिल्ली विकास प्राधिकरण में याचिकाकर्ता ने नौकरी मांगी थी। याचिकाकर्ता के पिता का निधन 51 वर्ष की उम्र में हो गया था। उनके घर में मॉं दो बेटे और एक बेटी है। दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा अनुकंपा नियुक्ति नहीं दिए जाने पर यह याचिका दायर की गई थी। जो कैट ने निरस्त कर दी है।