Breaking News
Home / अन्य ख़बरें / जब खंभे के लिए जनरल ने मिला दिया अधिकारी को फोन

जब खंभे के लिए जनरल ने मिला दिया अधिकारी को फोन

अपने आवास पर जनरल नजर आए जन नेता के रूप में
वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)

गाजियाबाद। जनरल वीके सिंह यंू तो थल सेना के अध्यक्ष रहे हैं और वर्तमान में केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री हैं। जनरल का विजन समस्याओं को लेकर फाइल, आश्वासन का नहीं बल्कि सीधे कार्रवाई और सीधे समाधान का रहता है। जो काम हो सकता है उसे तुरंत अधिकारियों से बात कराकर करवाते हैं। रविवार को भी जनरल वीके सिंह अपने राजनगर स्थित सांसद आवास पर जन नेता के रूप में नजर आए। जनरल वीके सिंह रविवार को अपने आवास पर जनता के लिए मौजूद थे। जब मामला जनता और उनके सांसद के बीच का था तो जनरल भी उसी स्टाइल में मौजूद थे। सीधी बात, प्रतिनिधियों से तालमेल और अधिकारियों को निर्देश वाला अंदाज था।
इसकी बानगी उस समय देखने को मिली जब एक व्यक्ति ने उन्हें बताया कि दो महीने से चक्कर काट रहे हैं। जनरल ने बात सुनी और सीधे अधिकारी को फोन मिलाया।
दो महीने से चक्कर काटकर जो समस्या नहीं सुलझ रही थी वह जनरल के फोन के बाद बीस मिनट में सुलझ गई। रघुनाथपुरी निवासी बालस्वरूप व अन्य लोग रविवार को जनरल वीके सिंह के पास पहुंचे और उन्हें बताया कि उनके क्षेत्र में बिजली का खंभा गिरा हुआ है। वह अधिकारियों से मिल चुके हैं और दो महीने से चक्कर काट रहे हैं। इतना सुनकर जनरल ने सीधे बिजली विभाग के बड़े अधिकारी को फोन मिलाया और सीधी बात की। ये जनरल का अंदाज था कि अधिकारी भी लाइन पर आ गए और बीस मिनट के अंदर खंभा सीधा करने के लिए टीम भी पहुंच गई।
क्यों नहीं पहुंचे
भाजपा के नेता जनता को लेकर
वैसे तो भाजपा नेता कभी रैली तो कभी मेले के नाम पर लोगों को मैदान में लेकर पहुंच जाते हैं। जब रविवार को गाजियाबाद में केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद जनता की समस्याओं के समाधान के लिए ही बैठे थे, तब भाजपा नेताओं ने सांसद आवास से दूरी बना ली।
कार्यकर्ता और पदाधिकारी यदि अपने साथ पीड़ितों को लेकर पहुंचते और सांसद मामले में संज्ञान लेते तो इसका सकारात्मक संदेश जाता। लोगों का भरोसा भी बढ़ता। लेकिन भाजपा के मंत्री के आने पर मेला लगाने वाले मंडल स्तर के पदाधिकारी भी अपनी ही सरकार के केंद्रीय मंत्री के आने पर दूरी बना गए।
जनरल वीके सिंह मंत्री होते हुए भी सांसद बनकर क्षेत्र में समस्या सुनने पहुंचे और पदाधिकारी कार्यकर्ता बनकर नहीं आ सके। मंडल अध्यक्ष भी यदि आते और देहात से लोग आते तो इसका मैसेज ही भाजपा के पक्ष में सकारात्मक जाता।
जब कान में की सिफारिश तो दी नसीहत जनरल ने
लोकसभा सांसद जनरल वीके सिंह का अंदाज यदि मंत्रालय में केंद्रीय मंत्री के रूप में देश की समस्याओं को लेकर रहता है तो अपने लोकसभा क्षेत्र में वह सांसद के रूप में नजर आते हैं। उनके आने की सूचना पर सैकड़ों लोग उनके आवास पर समस्याएं लेकर पहुंचे। लोग सांसद के अंदाज से खुश भी थे और समाधान से वह प्रसन्न भी नजर आए। इसी बीच एक व्यक्ति ने पास आकर जनरल के कान में किसी सूचना के लिए कहा तो जनरल ने उसे नसीहत दी। उन्होंने कहा कि यह सरकार का मामला है, यह व्यक्तिगत सिफारिश है। हम जनता की समस्या सुनने के लिए बैठे हैं, जो आप बता रहे हैं वह जनता की समस्या नहीं है। जनरल ने जनता की समस्याओं को सुना और उनके समाधान का रास्ता तय किया।

Check Also

खोड़ा पालिका चेयरमैन मोहिनी शर्मा को सपा का समर्थन

Share this on WhatsAppगाजियाबाद (करंट क्राइम)। खोड़ा नगर पालिका सीट पर पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code