Breaking News

संघ प्रचार प्रमुख विपिन ने उठाए तिरंगे को इंडस्ट्रीयल एरिया में फहराए जाने पर सवाल
कहा- जंगल में मोर नचाने की तैयारी
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। संघ महानगर प्रचार प्रमुख विपिन त्यागी अपने विचारों को कायदे से रखने के लिए पहचाने जाते हैं। एक बार फिर उन्होंने एक ऐसा विचार सामने रखा है, जिससे नगर निगम और निवर्तमान मेयर अशु वर्मा का ड्रीम प्रोजेक्ट निशाने पर आ गया है। विपिन त्यागी ने औद्योगिक क्षेत्र के श्यामा प्रसाद मुखर्जी पार्क में 250 फीट का झंडा लगाए जाने के प्रोजेक्ट पर सवाल खड़े कर दिए हैं।
विपिन त्यागी ने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र में लगा रहे हैं 250 फीट ऊँचा तिरंगा, आज से 18-20 साल पहले शहर से बाहर बुलंदशहर रोड इंडस्ट्रियल एरिया में एक बड़ा उपवन डवलप किया गया था, जिसके अंदर बडे बडे पार्क, लैण्डस्केप, नौकायन के लिये झील और न जाने क्या क्या, करोड़ की लागत से बनाये गये, इस श्यामा प्रसाद मुखर्जी पार्क को कुछ हजार शहरवासियों ने भी नहीं देखा होगा आज तक।
यह अलग बात है कि प्रतिवर्ष श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती एवं पुण्यतिथि पर यहाँ कुछ माल्यार्पण के औपचारिक कार्यक्रम भारतीय जनता पार्टी करती है।
अब नगर निगम ने इसी ऐतिहासिक स्थान को प्रदेश का सबसे ऊँचा तिरंगा लगाने के लिये चुना है। थोडी रौनक बढ़ जायेगी,अब 15 अगस्त और 26 जनवरी को भी कुछ औपचारिकताएं सम्पन्न होंगी यहाँ। कांग्रेस नेता नवीन जिंदल ने राष्ट्रध्वज को लेकर कानूनी लड़ाई लड़ी और जीतकर इसको सर्व सुलभ बनाया, नवीन जिंदल उद्योग पति हैं इसलिये अपने औद्योगिक प्रतिष्ठानों में राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं परंतु नगर निगम गाजिÞयाबाद की क्या विवशता है कि उसको औद्योगिक ईकाईयों के मध्य ही राष्ट्रध्वज फहराना पड़ रहा है, समझ से परे है। ये और बात है कि इस स्थान से कुछ सौ मीटर दूर इसी औद्योगिक क्षेत्र में स्थित विद्यालय में पहले से ही काफी ऊँचा राष्ट्रध्वज लगा हुआ है। वैसे शहर के अंदर घंटाघर, नवयुग मार्केट, आर.डी.सी., मोहन नगर चौक, मेरठ मोड़, सेन्टरल पार्क जैसे अनेकों स्थान हो सकते थे जहाँ अधिक संख्या में जन सामान्य उसको देख कर आन्नदित एवं उत्साहित होते। शहर के बाहर सिटी फोरेस्ट, सांई उपवन, हिंडन के निकटवर्ती क्षेत्र बहुत उपयुक्त हो सकते थे, जहाँ आमजन की आवा-जाही ठीक ठाक है परंतु जंगल में मोर नचाकर किसे दिखाना चाहते हैं हमारे नेतागण?

Check Also

मैट्रो विस्तीकरण के संशोधित डीपीआर के फंडिंग पैटर्न को लेकर हुआ विचार विमर्श

Share this on WhatsAppगाजियाबाद (करंट क्राइम)। जीडीए उपाध्यक्ष के कार्यालय में मैट्रो रेल विस्तीकरण हेतु …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *