Breaking News
Home / Uncategorized / बिहार में शहीदों को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई
last fir copy

बिहार में शहीदों को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई

पटना| छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए बिहार के छह शहीदों को बुधवार को नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई। सभी शहीदों के गांवों में उनकी अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। वैशाली जिले के शहीद अभय का शव जंदाहा प्रखंड के पैतृक गांव लोमा पहुंचते ही पूरा माहौल गमगीन हो गया। सुबह शहीद अभय की अंतिम यात्रा प्रारंभ हुई, जिसमें जिले के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हुए। अभय का अंतिम संस्कार महनार के पलवईया घाट पर पूरे पुलिस सम्मान के साथ किया गया। रोहतास जिले के शहीद कृष्ण कुमार पांडेय का पार्थिव शरीर पहुंचने के बाद बुधवार को चेनारी हाईस्कूल के मैदान में उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस मौके पर सांसद छेदी पासवान, चेनारी से विधायक ललन पासवान, जिलाधिकारी अनिमेष कुमार पराशर, पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लो और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के अधिकारी समेत बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे। सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों और स्थानीय लोगों ने शहीद के पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित की। फूलों से लदे एक खुले वाहन पर पार्थिव शरीर को रखकर शवयात्रा निकाली गई। दुर्गावती नदी के तट पर पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार किया गया। दरभंगा जिले के अहिला गांव के शहीद जवान नरेश यादव का भी अंतिम संस्कार पूरे सम्मान के साथ किया गया। अंतिम संस्कार में मंत्री मदन सहनी, सीआरपीएफ के अधिकारी सहित जिले के तमाम बड़े अधिकारी और साथ ही हजारों की संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। गमगीन माहौल में शहीद के बड़े पुत्र अमित कुमार ने शव को मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार से पूर्व गांव में शव यात्रा निकाली गई, जिसमें भारी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए सौरभ का पार्थिव शरीर मंगलवार की देर रात पटना के दानापुर उनके निवास स्थान पहुंचा। शव के पहुंचते ही पूरे मुहल्ले में मातमी सन्नाटा पसर गया। पूरा इलाका वीर सौरभ अमर रहे के नारे से गूंज उठा। उन्हें सैनिकों ने सलामी दी, जिसके बाद उन्हें अंतिम विदाई दी गई।  छोटे भाई अनुभव ने वीर सपूत सौरभ को मुखाग्नि दी और उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। अंतिम यात्रा में सांसद और केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने भी शहीद को कंधा दिया। इसके पूर्व शहीदों का शव मंगलवार की रात पटना हवाईअड्डे पर लाया गया था। इस दौरान पटना के सभी वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। यहां से शहीदों का शव उनके पैतृक गांव भेजा गया। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के सुकमा में सोमवार को हुए नक्सली हमले में शहीद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 25 जवानों में से बिहार के छह सपूत भी शामिल हैं। सभी शहीद जवान बिहार के अलग-अलग जिलों के रहने वाले हैं। शहीद हुए जवानों में वैशाली जिले के अभय कुमार, भोजपुर के अभय मिश्र, पटना के दानापुर निवासी सौरभ कुमार, दरभंगा के नरेश यादव, शेखपुरा के रंजीत कुमार और रोहतास के के.क़े पांडेय शामिल हैं।

Check Also

mandola copy

मंडोला के 26 किसानों ने मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति

वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम) गाजियाबाद। मंडोला में आंदोलन कर रहे किसानों ने अब इच्छा मृत्यु …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code