Breaking News
Home / अन्य ख़बरें / केसी त्यागी की गिरफ्तारी से नाराज किसान नहीं मिले प्रशासन से

केसी त्यागी की गिरफ्तारी से नाराज किसान नहीं मिले प्रशासन से

वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)

गाजियाबाद। लोनी के मंडोला किसानों का आंदोलन अब प्रशासन से रूक नहीं रहा है। बड़ी बात ये है कि इस आंदोलन में भाग ले रहे किसान जदयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी की गिरफ्तारी और कुछ अन्य मुददों को लेकर इस कदर नाराज हैं कि जब प्रशासन ने किसानों को वार्ता के लिए बुलवाया तो किसान वार्ता में नहीं पहुंचे।
अब पुलिस के अधिकारियों ने इस संबंध में पत्र लिखकर जो कारण किसानों के नाराज होने के बताए हैं उनमें एक कारण केसी त्यागी की गिरफ्तारी का भी है। 26 जुलाई को जो वार्ता लोनी तहसील सभागार में होनी थी उसमें किसान नहीं पहुंचे। इस संबंध में किसानों का कथन है कि जब वह धरने पर नहीं थे तब केसी त्यागी के नेतृत्व में वसुन्धरा गेस्ट हाउस और कमिशनर आॅफिस मेरठ में वार्ता करने गए थे। अब वह धरना छोड़कर कहीं नहीं जाएंगे, और धरने पर ही वार्ता करेंगे। किसानों ने ये भी कहा है कि केसी त्यागी को गिरफ्तार करने, किसानों पर लाठी चार्ज करने, मुकदमा दर्ज करने, किसानों की टयूबवैल और कमरों को तोड़े जाने की किसान घोर निंदा करते हैं। किसान यह भी कह रहे हैं कि जो पत्र एसडीएम ने महेन्द्र त्यागी और रामेश्वर त्यागी को भेजा उसमें दोनों को ही किसान सत्याग्रह संयोजक नहीं लिखा गया। किसानों के धरने को अवैध घोषित कर दिया गया। किसानों की वार्ता भले ही नहीं हुई है लेकिन अधिकारियों के पत्रों और घटनाक्रम से यह संदेश साफ हो गया है कि कांगे्रस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर अब मंडोला आंदोलन से आउट हो गए हैं। यहां किसानों के सर्वाधिक हितैषी और लोकप्रिय नेता के रूप में केसी त्यागी अब सामने आए हैं।

Check Also

फैडरेशन आॅफ राजनगर एक्सटेंशन पदाधिकारियों ने किया प्रदर्शन

Share this on WhatsAppकरंट क्राइम गाजियाबाद। फैडरेशन आॅफ राजनगर एक्सटेंशन एओए पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *