Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / गाजियाबाद की जनता को क्या ‘आशा’ देगी सीएम की रैली

गाजियाबाद की जनता को क्या ‘आशा’ देगी सीएम की रैली

वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)

गाजियाबाद। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज गाजियाबाद आ रहे हैं। ढाई महीने में यह मुख्यमंत्री का गाजियाबाद में दूसरी बार आगमन है। दोनों ही बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां जनसभा को संबोधित किया है। निगम और निकाय चुनाव के दौरान जब सीएम योगी आदित्यनाथ गाजियाबाद में होंगे तो जाहिर है कि उनके भाषण से जनता को आशाएं रहेंगी। हालांकि चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री कोई नई घोषणा नहीं करेंगे। वह जो भी संबोधन करेंगे उसे आचार संहिता के दायरे में रहकर ही करेंगे। मुख्यमंत्री के संबोधन में नगर निगम और नगर निकाय फोकस पर रहेगा। योगी आज गाजियाबाद में होंगे और उनकी यह रैली चुनाव की दिशा और दशा तय करेगी।
रैली में उमड़ने वाली भीड़ भी संकेत देगी कि लहर किस ओर बह रही है। रैली में भीड़ जुटाने के लिए वॉर्ड उम्मीदवारों से लेकर भाजपा संगठन ने मेहनत की है। संगठन के महानगर अध्यक्ष अजय शर्मा कह चुके हैं कि आज घंटाघर रामलीला मैदान में होने वाली यह रैली भाजपा की अब तक की सबसे बड़ी रैली होगी। अब इस बयान के भी मायने तलाशे जा रहे है। 8 फरवरी को कमला नेहरू नगर मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली हुई थी। अब यदि आज की रैली अब तक की सबसे बड़ी रैली है तो क्या यह रैली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से भी बड़ी रैली होगी। बहरहाल गाजियाबाद की जनता को सीएम की जनसभा से आशाएं है। आशा शर्मा यहां से भाजपा की मेयर उम्मीदवार है। रैली में पूरी भाजपा एक साथ होगी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भाजपा उम्मीदवारों के लिए अपील करेंगे।
क्या मंच पर मिलेगा वरिष्ठ नेताओं को स्थान
भाजपा में क्या इस बार वरिष्ठ नेताओं को मंच पर स्थान मिलेगा। 31 अगस्त को जब योगी आदित्यनाथ कविनगर रामलीला मैदान में जनसभा को संबोधित करने आए थे तो कई वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी हो गई थी और उन्हें मंच पर स्थान ही नहीं मिला था, जबकि कई नए चेहरे सीएम के मंच पर उनके साथ थे। अब यही कयास लगाए जा रहे है कि क्या आज की रैली में वरिष्ठ नेताओं को मंच पर स्थान मिलेगा। हालांकि दो मंच बनाए गए है। ऐसे में किस नेता को किस मंच पर स्थान मिलता है। यह भी देखने की बात है।
भाजपा के बागी पहुंचेंगे
सीएम की सभा में?
निकाय चुनावों में इस बार बगावत का सुर सबसे ज्यादा भगवा खेमे में है। कई भाजपा नेता इस बार बागी होकर भाजपा के उम्मीदवारों के सामने निर्दलीय ताल ठोंक रहे हैं। अब यह देखना रोचक होगा कि भाजपा के बागी घंटाघर रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री की जनसभा में पहुंचते
है या नहीं।
बागियों की एक पूरी फेहरिस्त है। जिन्हें टिकट नहीं मिला है वो भी निर्दलीय मैदान में है और जो निर्दलीय मैदान में नहीं है वह भी भाजपा उम्मीदवार के लिए भीतरघात कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर बखियां उधेड़ रहे हैं। लेकिन एक बात यह भी है कि यह बागी मेयर के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी के साथ है। एक नारा यह भी है कि बड़ी वोट भाजपा को और छोटी वोट जहां मन करे वहां दो। जो टीम वॉर्ड वाली लिस्ट आने के बाद विरोध का बिगुल बजा रही थी वही टीम आशा शर्मा के चुनाव में ताकत से लगी है। नारा भी यही है कि हमारा प्रत्याशी कमल का फूल लेकिन केवल बड़ी सीट पर। जब यह बागी भी भाजपा का झंडा उठाकर जनसभा में पहुंचेंगे तो इनके नारे भी संदेश देंगे।
मुस्लिम वोटों का रूझान तय करेंगे सीएम के बोल
सीएम योगी आदित्यनाथ भाजपा का भगवा चेहरा है। गोरखपुर से सांसद होते हुए उनके बोल भाजपा के लिए ध्रुवीकरण का माहौल बनाते है। हालांकि सीएम बनने के बाद उनकी भाषाशैली बदल रही है। लेकिन राजनीति के जानकार कहते हैं कि शैली बदली है, तेवर नहीं बदले है। लिहाजा गाजियाबाद की जमीन पर जब योगी चुनावी माहौल में अपनी बात कहेंगे तो सभी की निगाहे उनके शब्दों पर रहेगी। योगी के बोल मुस्लिम वोटों का रूझान तय करेंगे। यहां इस बात पर भी निगाह रहेगी कि योगी अपने संबोधन में किस विपक्षी दल को निशाने पर लेते है।
क्या मिलेगा निवर्तमान मेयर को सीएम के मंच पर स्थान
अभी निगम चुनाव हुआ नहीं है। नए मेयर ने शपथ भी नहीं ली है। लिहाजा तब तक अशु वर्मा ही निवर्तमान मेयर कहे जाएंगे। पिछली बार जब सीएम गाजियाबाद आए थे तो अशु वर्मा मेयर के रूप में सीएम के मंच पर थे। इस बार सभी की निगाहे इस बात पर रहेगी कि निवर्तमान मेयर अशु वर्मा को मंच पर स्थान मिलेगा या नहीं। हालांकि प्रबल संभावनाएं इस बात की है कि निवर्तमान मेयर को सीएम के मंच पर स्थान मिलेगा।
दोपहर साढेÞ तीन बजे लैंड करेगा सीएम का हैलीकॉप्टर
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तीन बजे मेरठ से हैलीकॉप्टर के जरिए गाजियाबाद के लिए रवाना होंगे। उनका हैलीकॉप्टर दोपहर साढ़े तीन बजे घंटाघर रामलीला मैदान पर बनाए गए हैलीपैड पर उतरेगा। वह वीटीएचजीएक्स हैलीकॉप्टर से गाजियाबाद आएंगे। हैलीपैड पर एनएसजी कमांडो सुरक्षा का मोर्चा संभालेंगे।
सपा-बसपा भी तलाशेगी भाषण में मुद्दे
सीएम योगी आदित्यनाथ की जनसभा में उनके श्रीमुख से निकले हर शब्द पर विपक्षी दलों की नजर रहेगी। बसपा और सपा भी योगी के हर शब्द पर नजर रखेगी।
भाषण में उन शब्दों पर नजर रहेगी जो चुनावी मुद्दा बन सकते है। कई बार शब्द ही बहुत संदेश दे जाते हैं। लिहाजा दोनों विपक्षी दल योगी के भाषण के हर शब्द पर निगाह रखेंगे। सूत्र बताते हैं कि दोनों दलों के कई कार्यकर्ता जनसभा से लेकर भाषण तक अपने मोबाइल से वीडियो रिकॉर्डिंग करेंगे। यहां घटित हर छोटी-बड़ी घटना को सोशल मीडिया पर मुद्दा बनाकर चुनावी माहौल बनाया जाएगा। हर शब्द पर निगाह रहेगी।

ढाई महीने बाद भी मानसरोवर स्थल पर नहीं लगी एक भी र्इंट
गाजियाबाद। कैलाश मानसरोवर यात्री विश्राम स्थल और कांवड़ यात्री विश्राम स्थल भाजपा के वह ड्रीम प्रोजेक्ट है जिनकी नींव सरकार आने से पहले ही रखी गई है। कैलाश मानसरोवर यात्री विश्राम स्थल के लिए नौ हजार वर्ग मीटर जमीन इंदिरापुरम में स्वीकृत हो गई है। इसके लिए सरकार ने पचास करोड़ रुपए देने का ऐलान किया था और बीस करोड़ रुपए की पहली किश्त जारी भी हो गई है। निवर्तमान मेयर अशु वर्मा ने बताया कि राजकीय निर्माण निगम इसका निर्माण कराएगा। इसके अलावा कांवड़ यात्री विश्राम स्थल उसी स्थान पर बनेगा, जहां शिलान्यास कराया गया था। 8120 वर्ग मीटर जमीन में इस स्थल का निर्माण होगा। इसके लिए पूरी कवायद 1 अप्रैल 2016 को शुरू हुई थी। उस समय मेयर अशु वर्मा, मंत्री अतुल गर्ग, मुरादनगर विधायक अजितपाल त्यागी, साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा और लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने मुख्यमंत्री से मिलकर इस प्रोजेक्ट के लिए स्वीकृति प्रदान की थी। मुख्यमंत्री ने 31 अगस्त को इसका ऐलान किया था। लेकिन ढाई महीने बीत जाने के बाद भी इस स्थल पर निर्माण की एक र्इंट नहीं लगी है।
मुख्यमंत्री का ब्लड ग्रुप है एबी पॉजिटिव
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ब्लड ग्रुप एबी पॉजिटिव है। जब मुख्यमंत्री घंटाघर रामलीला मैदान पर अपने हैलीकॉप्टर से उतरेंगे तो यहां 28 विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम मोर्चा संभाल लेगी। यह सभी डॉक्टर जिला अस्पताल से होंगे। सात डॉक्टरों की ड्यूटी मुख्यमंत्री की फ्लीट में रहेगी। डॉक्टरों की एक टीम हैलीपैड पर मौजूद रहेगी। एक टीम स्टेज के पीछे रहेगी। वहीं किसी भी आपातकालीन अवस्था के लिए जिला अस्पताल में सेफ रूम बनाया गया है। डॉक्टरों की एक टीम सेफ रूम में मौजूद रहेगी। किसी भी आपातकाल अवस्था में मौके पर ही उपचार की व्यवस्था है।
कौन विधायक लाएगा सबसे ज्यादा भीड़
विधानसभा चुनाव के बाद सीएम की यह दूसरी रैली है। भीड़ लाने का जिम्मा वैसे तो मेयर और चेयरमैन उम्मीदवारों पर है, लेकिन सबकी निगाहे इस बात पर रहेगी कि कौन विधायक अपने साथ भीड़ लेकर आता है। साहिबाबाद विधानसभा सबसे बड़ी विधानसभा है। सुनील शर्मा यहां भारी वोटों से जीते थे। अब सुनील शर्मा को रैली में भीड़ के जरिए ताकत दिखानी है। मुरादनगर विधानसभा सीट से विधायक अजितपाल त्यागी का अपनी विधानसभा में अपना ही जलवा है। उनके पास सबसे मजबूत टीम और सबसे मजबूत जनाधार माना जाता है। अजितपाल त्यागी के लिए भी यह भीड़ के हिसाब से ताकत दिखाने का मौका है। शहर सीट से अतुल गर्ग विधायक भी हैं और सरकार में मंत्री भी है। उनकी विधानसभा में यह सीएम की पहली रैली है। उन्हें भी यहां अपना जनाधार दिखाना है। लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर, मोदीनगर विधायक मंजू शिवाच को भी अपने समर्थकों की ताकत इस रैली में दिखानी है।
नगर पालिका उम्मीदवारों के लिए भी भीड़ लाने का चैलेंज
महानगर अध्यक्ष अजय शर्मा पहले ही कह चुके हैं कि यह अब तक की सबसे बड़ी रैली होगी। सबसे बड़ी रैली का मतलब है कि सबसे ज्यादा भीड़। इस चुनाव में मेयर उम्मीदवार के अलावा नगर पालिका परिषद उम्मीदवारों को भी अपनी ताकत दिखानी है। कबांइड रैली में लोनी, मोदीनगर, खोड़ा, मुरादनगर से चेयरमैन उम्मीदवारों को अपनी ताकत भीड़ के जरिए दिखानी है। सवाल यही है कि इन नगर पालिकाओं से कौन उम्मीदवार अपनी ताकत दिखाएगा। यहां मुरादनगर नगर पालिका परिषद चेयरमैन पद के लिए भाजपा नेता बृजपाल तेवतिया के भाई विकास तेवतिया मैदान में है। बृजपाल तेवतिया मुरादनगर में लगातार सक्रिय रहे हैं। विकास तेवतिया यहां चुनाव को पूरी धार दे रहे है। विधायक अजितपाल का सहयोग उन्हें मिल रहा है। ऐसे में विकास तेवतिया की भीड़ पर निगाहे रहेंगी। लोनी नगर पालिका परिषद से मनोज धामा चेयरमैन रहे है। इस बार उनकी पत्नी रंजीता धामा मैदान में है। यहां मनोज धामा को भी अपनी ताकत दिखानी है।
क्या नंदकिशोर को मिलेगा संबोधन का मौका
लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर को जिले का हिंदुत्ववादी फायर ब्रांड चेहरा माना जाता है। युवाओं में उनका सबसे अधिक क्रेज है। 31 अगस्त को जब मुख्यमंत्री जब गाजियाबाद आए थे तो नंदकिशोर का संबोधन सीएम के आने से पहले ही करा लिया गया था। अब नजर इस बात पर है कि क्या इस बार सीएम के सामने माइक संभालेंगे और अपने विधानसभा क्षेत्र के लिए कुछ खुलकर मांग पाएंगे।
गाजियाबाद की मुख्य मांगें
ॅ प्रदूषण मुक्त शहर
ॅ डम्पिंग ग्राउंड का निर्माण
ॅ स्मार्ट सिटी का दर्जा
ॅ हिंडन हो प्रदूषण रहित
ॅ सड़के हो गड्ढामुक्त
ॅ निगम में दूर हो भ्रष्टाचार
ॅ सुधरे नंदी पार्क की दशा
ॅ फॉगिंग हो नियमित
ॅ गौशाला अंडरपास सुधार
ॅ जलभराव से मुक्ति
ॅ हिंडन पुल निर्माण
ॅ स्ट्रीट लाइटों की व्यवस्था
ॅ फुटओवर ब्रिज एस्केलटर
ॅ फ्री होल्ड कॉलोनी विकास
ॅ गायों के लिए बने गौशाला
ॅ कॉलोनी की सड़कों का विकास
ॅ निगम विद्यालयों की बढ़े सुविधाएं

Check Also

फैडरेशन आॅफ राजनगर एक्सटेंशन पदाधिकारियों ने किया प्रदर्शन

Share this on WhatsAppकरंट क्राइम गाजियाबाद। फैडरेशन आॅफ राजनगर एक्सटेंशन एओए पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *