Home / Uncategorized / नहीं सुना सपा नेताओं ने अखिलेश यादव का फरमान

नहीं सुना सपा नेताओं ने अखिलेश यादव का फरमान

वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)

गाजियाबा। सपा छात्र जागरूकता सप्ताह 11 सितंबर से 18 सितंबर तक बनाया जा रहा है। इस संबंध में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने छात्र जागरूकता सप्ताह बनाने की अनुमति देते हुए पूरा कार्यक्रम बनाया था। सपा छात्र सभा के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह देव ने अपील जारी की और सप्ताह का प्रतिदिन का कार्यक्रम बनाया। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने जो पत्र सपा कार्यालयों पर भेजा, उसमें समस्त जिला अध्यक्ष, महानगर अध्यक्ष, सांसद और विधायकों के साथ-साथ सभी प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्षों को निर्देशित किया गया था। पत्र में कहा गया था कि सपा प्रदेश में युवा वर्ग को समाजवाद तथा समाजवाद के माध्यम से समाज के विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने की प्रेरणा देने का काम कर रही है। क्योंकि छात्र ही प्रजातंत्र में राजनीति के भविष्य माने जाते हैं।
सपा की देन ऐसी अनेक विभूतियां है, जिनमें जनेश्वर मिश्र व ब्रजभूषण तिवारी, मोहन सिंह के नाम उल्लेखनीय है। इसीलिए सपा द्वारा उत्तर प्रदेश में विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में समाजवाद के प्रति छात्रों को जागरूक करने के लिए प्रत्येक वर्ष छात्र जागरूकता सप्ताह बनाया जाता है। सपा के छात्र जागरूकता सप्ताह में छात्रों के उत्साहवर्धन के लिए सभी जिला और महानगर संगठन के समस्त पदाधिकारियों और सदस्यों का सहयोग मांगा गया था। पहले दिन ही सपा के युवा नेता तो आगे रहे लेकिन सपा के पदाधिकारियों ने अपनी ही पार्टी के कार्यक्रम से दूरी बना ली। छात्र जागरूकता सप्ताह के पहले दिन ही जिला प्रभारी रामकिशोर अग्रवाल और महानगर प्रभारी जेपी कश्यप एमएमएच कॉलेज में आयोजित शिविर में पहुंचे ही नहीं। प्रभारी संजय लाठर जरूर छात्रों के बीच पहुंचे और उत्साहवर्धन किया। यूथ नेताओं ने कॉलेज के बाहर कैंप लगाकर पार्टी की नीतियों का प्रचार-प्रसार किया। वरिष्ठों की तो बात छोड़ो सपा के पूर्व महानगर अध्यक्ष संजय यादव और पूर्व जिला अध्यक्ष राशिद मलिक भी सपा छात्र जागरूकता अभियान में नजर नहीं आए।
धर्मवीर-राहुल के पहुंचने से उत्साहित थे युवा
पूर्व महानगर अध्यक्ष और पूर्व जीडीए बोर्ड सदस्य धर्मवीर डबास सपा के उन वरिष्ठ नेताओं में शामिल रहे जो समाजवादी छात्र जागरूकता सप्ताह के प्रथम दिन एमएमएच कॉलेज में लगाए गए कैंप में पहुंचे। यहां उन्होंने छात्रों के बीच मौजूद रहकर उनका उत्साहवर्धन किया। यूथ खेमा अपने बीच धर्मवीर डबास और राहुल चौधरी जैसे वरिष्ठ नेता की मौजूदगी को लेकर उत्साहित नजर आया। धर्मवीर डबास वैसे भी उन समाजवादी नेताओं में हैं जो पार्टी के हर कार्यक्रम में आगे बढ़कर भाग लेते हैं। मामला अगर यूथ का है तो फिर धर्मवीर डबास अनुभव और जोश दोनों के बीच तालमेल बनाकर काम करते हैं। जब विपक्ष में आने के बाद कई सपा नेता अब खुद को सपाई बताने के बजाए समाज सेवी बताने लगे हैं, तब भी धर्मवीर डबास उन नेताओं में जो आज भी बुलंद आवाज में खुद को समाजवादी बताते हैं।
प्रदीप शर्मा और राहुल पंडित ने संभाला मोर्चा
जब सपा सरकार थी, तब भी युवाओं के तेवर पूरी तरह समाजवादी थे और अब जब सरकार जाने के बाद पार्टी विपक्ष में है तब भी सपा के यूथ नेताओं के हौंसलों में कमी नहीं है। सपा छात्र जागरूकता सप्ताह के प्रथम दिन एमएमएच कॉलेज पर आयोजित कैंप में राहुल पंडित, प्रदीप शर्मा पूरे जोश के साथ मौजूद थे। राहुल पंडित उन नेताओं में हैं, जिनके खिलाफ सीएम योगी आदित्यनाथ का पुतला फंूकने के प्रयास में मुकदमा दर्ज हुआ था। इसके अलावा यूथ खेमे में सपा छात्र सभा के प्रवेश बैसोया, विक्की ठाकुर, पुष्पेंद्र चौधरी, रविंद्र यादव, विक्रांत पंडित, अमन यादव, मोनू यादव, शहनवाज भी अपनी टीम के साथ मौजूद रहे। सपा के वरिष्ठ नेता तो छात्रों का उत्साहवर्धन नहीं पहुंचे, लेकिन इन युवाओं नेताओं ने समाजवाद का झंडा भी ऊंचा रखा और अपने ऊंचे मनोबल के साथ सपा की नीतियों का प्रचार-प्रसार कॉलेज कैंपस में करते हुए छात्रों को सपा से जोड़ने का प्रयास किया।

Check Also

छात्रा को मिले इंसाफ: यादव महासभा

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। यादव महासभा गाजियाबाद में मोदी नगर थाना क्षेत्र में एक नाबालिग छात्रा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code